Sunday, March 11, 2018

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति 

केन्द्र सरकार के देश भर में फैले कार्यालयों/उपक्रमों/बैंकों आदि में राजभाषा के प्रयोग को बढ़ावा देने और भारत सरकार की राजभाषा नीति के कार्यान्वयन में आ रही कठिनाइयों को दूर करने के लिए केन्द्र सरकार के 10 या 10 से अधिक कार्यालयों के लिए नगर विशेष में स्थित केन्द्रीय सरकार के कार्यालयों/उपक्रमों/बैंको आदि के वरिष्ठतम अधिकारियों में से एक अधिकारी की अध्यक्षता में गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग के सचिव के अनुमोदन से नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति गठित की जाती है । 

वर्तमान में पूरे देश में लगभग 264 नगर राजभाषा कार्यान्वयन समितियां गठित हैं । इस समिति की वर्ष में 2 बैठकें आयोजित करना आवश्यक है । इन बैठकों में सभी सदस्य कार्यालयों/उपक्रमों/बैंको आदि में राजभाषा कार्यान्वयन की समीक्षा की जाती है । समिति द्वारा सदस्य कार्यालयों में कार्यरत अधिकारियों /कर्मचारियों के लिए समय-समय पर हिंदी प्रशिक्षण, प्रतियोगिताएं तथा हिंदी कार्यशालाओं आदि की व्यवस्था की जाती है । समिति द्वारा सरकारी कामकाज में हिंदी के प्रयोग को बढ़ाने के लिए सभी सदस्य कार्यालयों को राजभाषा विभाग द्वारा जारी वार्षिक कार्यक्रम तथा समय-समय पर जारी विभिन्न आदेशों एवं दिशा निर्देशों के बारे में व्यापक जानकारी दी जाती हैं ।


राजभाषा विभाग का गठन


गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग का गठन 

गृह मंत्रालय के अधीन 1975 में राजभाषा विभाग की स्थापना की गई । सन 1960 में हिंदी न जानने वाले सरकारी कर्मचारियों के लिए हिंदी सेवा कालीन प्रशिक्षण अनिवार्य कर दिया गया । इसके बाद 1974 में केन्द्र सरकार के सभी उपक्रमों, निगमों और राष्ट्रीयकृत बैंको आदि में हिंदी प्रशिक्षण को अनिवार्य कर दिया गया। भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन विभिन्न स्थानों पर स्थापित केन्द्रीय हिंदी प्रशिक्षण संस्थान सरकारी कर्मचारियों के लिए हिंदी टंकण, हिंदी आशुलिपि तथा निम्नलिखित की व्यवस्था की जाती है ।


पाठ्यक्रम                     हिंदी भाषा का प्रशिक्षण तीन स्तरों पर दिया जाता है ।
(क) प्रबोध                    यह प्रारंभिक पाठ्यक्रम है जिसका स्तर प्राथमिक स्कूल की हिंदी के बराबर है ।
(ख)प्रवीण                    यह माध्यमिक स्तर का पाठ्यक्रम है जो मिडिल स्कूल की हिंदी के बराबर है ।
(ग) प्राज्ञ                       यह अंतिम पाठ्यक्रम है और इसका स्तर हाई स्कूल की हिंदी के बराबर है ।
(घ) हिंदी टंकण             25 शब्द प्रति मिनट
(ड़) हिंदी आशुलिपि       80/100 शब्द प्रति मिनट  
                            

हिंदी प्रवीणता प्राप्त स्टाफ की परिभाषा


यदि किसी कर्मचारी ने - 

(क) मैट्रिक परीक्षा या उसकी समतूल्य या उससे उच्चतर कोई परीक्षा हिंदी के साथ उत्तीर्ण कर ली है : या 

(ख) केंद्रीय सरकार की हिंदी प्रशिक्षण योजना के अंतर्गत आयोजित प्राज्ञ परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है 

(ग) यदि वह इन नियमों के उपाबध्द प्रारुप में घोषणा करता है कि उसने हिंदी का ज्ञान प्राप्त कर लिया है, उसके बारे में यह समझा जाएगा कि उसने हिंदी का कार्यसाधक ज्ञान प्राप्त कर लिया है । 

हिंदी का कार्यसाधक ज्ञान (नियम 9 और 10 देखिए ) 

यदि वह यह घोषणा करता है कि उसे हिंदी में प्रवीणता प्राप्त है और वह हिंदी का कार्य साधक ज्ञान रखता है तो उसके बारे में यह समझा जाएगा कि उसने हिंदी में प्रवीणता प्राप्त कर ली है ।


भारतीय रेल की हिंदी प्रोत्साहन एवं पुरस्कार योजनाएं

(1)  हिंदी परीक्षाएं -  हिंदी प्रशिक्षण के लिए प्रबोध, प्रवीण और प्राज्ञ पाठ्यक्रम है । इन पाठयक्रमों की अवधि 5-5 महिनों की है । वे पाठयक्रम पूर्णकालिक हैं और इन्हें नियत कार्य दिवसों में पूरा किया जाता है । पाठ्यक्रम की परीक्षा उत्तीर्ण करने पर प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र दिए जाते हैं तथा विशेष योग्यता के साथ परीक्षा उत्तीर्ण करने पर निम्नलिखित राशि प्रदान की जाती है :-  
                                                                                  प्रबोध               प्रवीण                प्राज्ञ   
70% से अधिक अंक प्राप्त करने पर                          1600/- रुपए         1800/-   रुपए       2400/- रुपए
60% से 69% तक अंक प्राप्त करने पर                      800/-     रुपए       1200/-   रुपए       1600/- रुपए
55% से 59% तक अंक प्राप्त करने पर                      400/-     रुपए       600/-     रुपए       800/- रुपए

हिंदी परीक्षाएं पास करने पर नियमानुसार एक वर्ष हेतु वैयक्तिक वेतन भी दिया जाता है

हिंदी के प्रयोग के लिए वर्ष 2017-18 का वार्षिक कार्यक्रम



क्र सं
कार्य विवरण
क्षेत्र
क्षेत्र
क्षेत्र
1.
हिंदी में मूल पत्राचार (ई-मेल, फैक्स, बेतार संदेश आदि सहित
1.  क्षेत्र से क क्षेत्र को 2. ’ क्षेत्र से ख क्षेत्र को
3. ’ क्षेत्र से ग क्षेत्र को
4. ’’ क्षेत्र से क व ख  क्षेत्र के राज्य/संघ के कार्यालय/व्यक्ति
100%
100%
65%
100%
1. ’ क्षेत्र से क क्षेत्र को
2.  क्षेत्र से ख क्षेत्र को
3. क्षेत्र से ग क्षेत्र को
4. ’’ क्षेत्र से क व ख  क्षेत्र के राज्य/संघ के कार्यालय/व्यक्ति
100%
100%
 65%
100%
1. क्षेत्र से क क्षेत्र को
2. क्षेत्र से ख क्षेत्र को
3.  क्षेत्र से ग क्षेत्र को
4. ’क्षेत्र से क व ख  क्षेत्र के राज्य/संघ के कार्यालय/व्यक्ति
100%
100%
65%
100%
2.
हिंदी में प्राप्त पत्रों का उत्तर
100%
100%
100%
3.
हिंदी में टिप्पण
75%
50%
30%
4.
हिंदी टंकण करने वाले कर्मचारी एवं आशुलिपिक की भर्ती
80%
70%
40%
5.
हिंदी डिक्टेशन /की बोर्ड पर सीधे टंकण (स्वयं तथा सहायक द्वारा )
65%
55%
30%
6.
हिंदी प्रशिक्षण (भाषा, टंकण, आशुलिपि)
100%
100%
100%
7.
द्विभाषी प्रशिक्षण सामग्री तैयार करना
100%
100%
100%
8.
जर्नल और मानक संदर्भ पुस्तकों को छोड़कर पुस्तकालय के कुल अनुदान में से डिजिटल वस्तुओं अर्थात् हिंदी ई-पुस्तक, सीडी/डीवीडी, पैनड्राइव तथा अंग्रेजी और क्षेत्रीय भाषाओं में हिंदी में अनुवाद पर व्यय की गई राशि सहित हिंदी पुस्तकों की खरीद पर किया गया व्यय ।
50%
50%
50%
9.
कंप्यूटर सहित सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की द्विभाषी रुप में खरीद
100%
100%
100%
10.
वेबसाइट
100% (द्विभाषी)
100% (द्विभाषी)
100% (द्विभाषी)
11.
नागरिक चार्टर तथा जन सूचना बोर्डो आदि का प्रदर्शन
100% (द्विभाषी)
100% (द्विभाषी)
100% (द्विभाषी)
12.
(i) मंत्रालयों/विभागों और कार्यालयों तथा राजभाषा विभाग के अधिकारियों ) (उ.स./निदे/सं.स) द्वारा अपने मुख्यालय से बाहर स्थित कार्यालयों का निरीक्षण (कार्यालयों का प्रतिशत)
25% ( न्यूनतम)
25%( न्यूनतम)
25%( न्यूनतम)
(ii) मुख्यालय में स्थित अनुभागों का निरीक्षण
25%( न्यूनतम)
25%( न्यूनतम)
25%( न्यूनतम)
(iii) विदेश में स्थित केंद्र सरकार के स्वामित्व एवं नियंत्रण के अधीन कार्यालयों/उपक्रमों का संबंधित अधिकारियों तथा राजभाषा विभाग के अधिकारियों द्वारा संयुक्त निरीक्षण
वर्ष में कम से कम एक निरीक्षण
13.
राजभाषा संबंधी बैठके
(क) हिंदी सलाहकार समिति
(ख) नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति
(ग) राजभाषा कार्यान्वयन समिति
वर्ष में 2 बैठकें (कम से कम )
वर्ष में 2 बैठकें (प्रति छमाही एक बैठक)
वर्ष में 4 बैठकें (प्रति तिमाही एक बैठक)
14.
कोड, मैनुअल, फॉर्म, प्रक्रिया और साहित्य का हिंदी अनुवाद
100%
15.
मंत्रालयों/विभागों/कार्यालयों/बैंकों/उपक्रमों के पैसे अनुभाग जहां संपूर्ण कार्य हिंदी में हो
"क" क्षेत्र
40%
"ख" क्षेत्र
30%
"ग " क्षेत्र
20%
(न्यूनतम अनुभाग )
सार्वजनिक क्षेत्र के उन उपक्रमों आदि, जहां अनुभाग जैसी कोई अवधारणा नहीं, "क " क्षेत्र में कुल कार्यक्षेत्र का 40% "ख" क्षेत्र में 25% और "ग" क्षेत्र में 15% कार्य हिंदी में किया गया ।




अंग्रेजी - हिंदी शब्द पारिभाषिक शब्दावली


पारिभाषिक शब्दावली
अंग्रेजी शब्द
हिंदी शब्द
अंग्रेजी शब्द
हिंदी शब्द
A
Amendment
संशोधन
Arrears
बक़ाया
Affidavit
शपथ-पत्र
Attention
ध्यान देना
Acknowledgement
पावती
Authorized
प्राधिकृत
Ad-hoc
तदर्थ
Automated
स्वचलित
B

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति  केन्द्र सरकार के देश भर में फैले कार्यालयों/उपक्रमों/बैंकों आदि में राजभाषा के प्रयोग को बढ़ावा देने औ...